Type Here to Get Search Results !

Happy Diwali 2021: Diwali Poem on Shree Ram Sita, A Diwali Wishes 2021

Happy Diwali 2021: Diwali Poem on Shree Ram Sita, Diwali Wishes 2021


Diwali या Deepavali जगत के सर्वोपरी देवता श्री राम के 14 वर्ष वनवास काल ख़त्म होने के बाद अयोध्या वापसी के खुशियों में मनाई जाती है। इस Diwali 2021 के दिन हम श्री राम के सम्मान हेतु चारों ओर खुशियों से भरा प्रेम स्वरूप दीप जलाकर उनका स्वागत करते हैं। अतः Diwali के इस पावन अवसर पर आइए हम सब श्री राम का नाम लेते हैं उनका भजन करते हैं और साथ ही हमारे देश के सभी वीर जवानों के लिए एक दीप जलाकर Diwali  का आनंद लेते हैं।

Happy Diwali 2021: A Spiritual Diwali Poem on Shree Ram Sita. Get Latest Diwali Wishes 2021, Diwali Greeting, Shayari, to celebrate this Diwali with your family and friends


Happy Diwali 2021, Diwali Poem on Shree Ram Sita, A Diwali Wishes 2021
Happy Diwali 2021


इस Diwali या Deepavali के पावन त्योहार पर आप सभी पाठकों को TimesTak की ओर से ढेरों हार्दिक शुभकामनाएं और बधाई

Happy Diwali 2021: Diwali Poem on Shree Ram Sita: हम हिन्दू धर्म में श्री रामचन्द्र जी को सर्वोपरी मानते हैं, वो हमारे यानी हिंदुओं के देवता हैं। श्री रामचन्द्र जी का जन्म भगवान् विष्णु के सातवें अवतार में अयोध्या के महाराज श्री दशरथ के पुत्र रूप में हुआ था, एवं जिनका विवाह जनकपुर के महाराज राजा जनक की सुपुत्री सीता जी के साथ हुआ था। हिन्दू धर्म में कहा गया है श्री रामचन्द्र जी का जाप करने से दुःख कष्टों का निवारण होता है, साथ ही हिन्दू धर्म में ये भी कहा गया है श्री सीता राम के नाम बंदना से जीवन एवं मृत्यु चक्र से शक्ति तथा मुक्ति भी मिलती है। श्री रामचन्द्र जी का नाम न केवल भारत देश में ही बल्कि पूरे विश्व में लिया जाता है। नेपाल के कुछ क्षेत्रों में भी श्री रामचन्द्र जी का नाम को अभिवादन के रूप में लिया जाता है।

Happy Diwali 2021: A Spiritual Diwali Poem on Shree Ram Sita. Get Latest Diwali Wishes 2021, Diwali Greeting, Shayari, to celebrate this Diwali with your family and friends


जय श्री राम मेरे जय श्री राम,
जग के दुलारे देखो श्री सीता राम।
दशरथ नन्दन जग के भजन,
पार लगाते श्री सीता राम।

बाहर राम देखो भीतर राम,
जग में समाए देखो प्यारे राम।
जग पालनहार, दुःख हरता राम,
मंगलमय श्री हनुमत राम।

जग के दाता श्री विश्व विधाता,
मंगल मूरत श्री सीता राम।
जल में है राम, देखो थल में है राम,
चरणों में है तेरे चारों धाम।

धड़कन में राम सबके मन में है राम,
गली गली नाम भक्त जपते है राम।
मन भज राम श्री सीता राम,
सबके दुलारे देखो सीता राम।


वन में है राम कण कण में है राम,
जग के दाता श्री ब्रह्मा है राम।
मन मेरा बोले तन मेरा बोले,
जीवन पुकारे श्री सीता राम।

सुबह में राम, देखो शाम में राम,
जीवन चक्र चलने वाले श्री सीता राम।
नारायण है राम, स्वं ब्रम्हा है राम,
जग को बनाने वाले श्री सीता राम।

जय श्री राम जय श्री राम
पार लगाने वाले श्री सीता राम।

Also read: Poem on Light

Jay Shree Ram more Jay Shree Ram 
Jag ke dulare dekho Sita Ram, 
Shree Dasrath nandan jag ke bhanjan 
Par lagate Shree pyare Ram,

Bahar Ram dekho bhitar Ram, 
Jag me samaye dekho pyare Ram,
Jag palanhar, dukh harta Ram 
Mangalmay Shree Hanumat Ram, 

Jag ke data Shree viswa vidhata
Mangal murat Shree Sita Ram, 
Jal me hai Ram dekho thal me hai Ram, 
Charno me hain tere charo dham, 

Dharkan me Ram sabke man me hai Ram, 
Gali gali name bhakt japte hai Ram,
Man bhaj Ram Shree Sita Ram, 
Sabke dulare dekho Sita Ram, 


Ban me hai Ram kan kan me hai Ram,
Jag ke data Shree Bhrahma hai Ram,
Man mera bole tan mera bole,
Jivan pukare Shree Sita Ram,

Subah me Ram, dekho shaam me Ram 
Jivan chkra chlane wale Shree Sita Ram
Narayan ram swayam Bhrahma hai Ram,
Jag ko banane wale Shree Sita Ram.


Jay Shree Ram Jay Shree Ram,
Par lagane wale Shree Sita Ram



Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad