Type Here to Get Search Results !

Prem hai ya Moh - प्रेम है या मोह- A Hindi Love Poem

 दोस्तों क्या आपको प्रेम और मोह में अंतर पता है? अगर आपने कभी प्रेम और मोह में अंतर जानने की कोशिश की है तो TimesTak आपके लिए एक अनोखी कलेक्शन "Prem hai ya Moh - प्रेम है या मोह- A Hindi  Love Poem" लेकर आया है। दुनिया में हम सभी एक दूसरे के साथ प्रेम के बंधन से जुड़े है। और हमें मालूम है कि हमारी Relationship प्रेम के बंधन के  साथ जुड़ी है। लेकिन हमें मालूम नहीं होता की आख़िर कार हमारी Relationship प्रेम से जुड़ी है या मोह से। 

Prem hai ya Moh - प्रेम है या मोह- A Love Romantic Poem - TimesTak

प्रेम क्या है? What is Love

दुनिया में लोग प्रेम को कई तरह से परिभाषित करते हैं, लेकिन क्या हमें वास्तव में प्रेम की परिभाषा पता है? क्या हम प्रेम को वास्तव में समझ पाते हैं? 

"प्रेम" यानी प्यार जिसे इंग्लिश में Love भी कहते हैं, ये हमें ज़िन्दगी जीने का सही मूल्य सिखाती है। प्रेम क्या है ? प्रेम मनुष्यता है। हम दुनिया में एक हैं, एक दूसरे को महसूस कर जीते हैं, यही तो है प्रेम! दूसरे को दर्द होने पे खुद को जब दर्द होता है, दूसरे के ख़ुशी में खुद को ख़ुशी महसूस होती है क्या है ये प्रेम ही तो है। 

प्रेम एक एहसास है। प्रेम स्वाभिमान है। प्रेम त्याग है। प्रेम बलिदान है। प्रेम खुद में एक प्रेम है। दोस्तो चाहे हम दुनिया में कितनी भी प्रेम की परिभाषा बना ले लेकिन प्रेम तो वो एहसास है जो ज़िन्दगी बनने से पहले सूरू तो होती है लेकिन ज़िन्दगी ख़तम होने के बाद भी वो हमारे अंदर रहती है। 

मोह क्या है? What is Infatuation?

दोस्तों मोह भी कुछ प्रेम से से अलग नहीं। जितना प्रेम हमारे अंदर होती है उतना ही मोह भी हमारे अंदर ही होती है। लेकिन ज़िन्दगी में प्रेम और मोह "Prem hai ya Moh" Ka अलग अलग किरदार है। हम कभी कभी किसी चीज से या किसी इंसान से इतना प्रेम कर बैठते है कि हमें उसके अलावा कुछ और दिखता ही नहीं और अगर वो चीज या इंसान हमें ना मिले तो हम उसके बिना एक क्षण के लिए भी नहीं रह पाते हैं। यही है मोह। कभी कभी हम कसी चीज को या किसी इंसान को देखते ही मुग्ध हो जाते हैं और चाहते है कि वो चीज हमें तुरंत मिल जाए।

Read Now: Love Lines and Quotes 2020

 अतः प्रेम तो हमारे दिल से शुरू होता है लेकिन मोह! मोह हमें किसी चीज या इंसान के प्रति इतना आकर्षित कर देता है कि हम उसे पाने के लिए किसी भी हद तक चले जाते है अतः मोह आंखों से शुरू होकर दिल तक जाता है। 

Prem hai ya Moh - प्रेम है या मोह- A Love Romantic Poem - TimesTak

चुकी: "Prem hai ya Moh - प्रेम है या मोह" यह एक Hindi love Poem है जो TimesTak ने नौजवानों को मद्देनजर रख कर उन्हें डेडिकेट किया है, लेकिन ये सिर्फ नौजवानों के लिए नहीं, यह Hindi  love Poem हम सारे इंसानों के लिए है, जो प्रेम करते हैं, जो प्रेम करना चाहते हैं, जो एक दूसरे को प्रेम करना सिखाते हैं। 

Prem hai ya Moh - प्रेम है या मोह

Prem hai ya moh 

Kehna bada muskil hai 

Dekh use jab dil ghabraye 

Sarmaye dil u man muskaye 

Ye prem hai ya moh 

Kehna bada muskil hai 


प्रेम है या मोह

कहना बड़ा मुश्किल है

देख उसे जब दिल घबराए 

शर्माए दिल यूं मन मुस्काए

ये प्रेम है या मोह

कहना बड़ा मुश्किल है


Chalte rahon se jab bhatke man 

Wo Man didar kar sapne dikhaye 

Ye prem hai ya moh 

Kehna bada muskil hai 


चलते राहों से जब भटके मन

वो मन दीदार कर सपने दिखाए 

प्रेम है या मोह

कहना बड़ा मुश्किल है

----------

Chandani wali raaton me jab 

dekh chand, khyal us pari ki aye

Sitaron bhari aasamn me 

u badlon sang chipa chand muskaye

Fir kyo ye dhadkan koi geet gungunaye 

Ye prem hai ya moh 

Kehna bada muskil hai 


चांदनी वाली रातों में जब 

देख चांद, ख्याल उस परी की आए

सितारों भरी आसमां में 

यूं बादलों संग छिपा चांद मुस्काए 

फ़िर क्यों ये धड़कन कोई गीत गुनगुनाए 

प्रेम है या मोह

कहना बड़ा मुश्किल है

---------------

Rom rom rang rangeen ho jaye 

Dekh uske nain zivan dor bandh jaye 

Pailo ki chanchan sun man vivor ho jaye

Khanakti uski chudiyan dil magan ho jaye

Ye prem hai ya moh 

Kehna bada muskil hai 


रोम रोम रंग रंगीन हो जाए 

देख उसके नैन जीवन डोर बंध जाए 

पायलों की छनक सुन मन विभोर हो जाए

खनकती उसकी चूड़ियां दिल मस्त मग्न हो जाए

प्रेम है या मोह

कहना बड़ा मुश्किल है


कहना बड़ा मुश्किल है ये प्रेम है या मोह कहना बड़ा मुश्किल है


Kehna bada muskil hai ye prem hai ya moh Kehna bada muskil hai  

*************

TimesTak हमेशा आपके लिए इसी तरह की कई बेहतरी और अनोखी sher o Shayeri, quotes, status images, poems, etc लेकर आता रहता है। हम हमारी और आपकी regular life को ध्यान में रखते हुए अनोखी कलेक्शन तैयार करते हैं और कोशिश करते है कि आपको हर एक कलेक्शन अच्छी लगे।

Conclusion: पाठकों तो आशा करता हूं Timestak पे प्रकाशित यह Hindi  love Poem आपको "Prem hai ya Moh - प्रेम है या मोह" की यह कलेक्शन पढ़कर बहुत अच्छा लगा होगा। और आपको इस अनोखी कलेक्शन से प्रेम और मोह के बारे में कुछ हद तक जरूर जानने को मिला होगा। दोस्तों हमें हमेशा याद रखनी चाहिए कि हम दुनिया में हर किसी के साथ प्रेम से और व्यावहारिक रूप से रहे, एक दूसरे को हमेशा सम्मान दे ताकि हमारी दुनिया को हमसे या किसी भी इंसान को किसी दूसरे इंसान से कोई तकलीफ़ ना हो। और एक दूसरे के साथ खुश रहकर संटी पूर्वक जीवन निर्वाहन करना यही तो है प्रेम, और प्रेम से रहना । 

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad